LetrasAitbaar Nahi Karna

Nadeem, Shravan

  • Escrito por:
Última atualização em: 9 de setembro de 2019

ऐतबार नहीं करना इन्तज़ार नहीं करना ऐतबार नहीं करना

इन्तज़ार नहीं करना हद से भी ज़्यादा तुम किसी से प्यार नहीं करना हद से भी ज़्यादा तुम किसी से प्यार नहीं करना इकरार नहीं करना जाँ निसार नहीं करना हद से भी ज़्यादा तुम किसी से प्यार नहीं करना हद से भी ज़्यादा तुम किसी से प्यार नहीं करना मंज़िलें बिछड़ गयीं रास्ते भी खो गये आये फिर ना लौट के जो दीवाने हो गये चाहतों की बेबसी दूरियों के ग़म मिले बेक़रारियाँ मिलीं चैन यार कम मिले बेक़रार नहीं करना इन्तज़ार नहीं करना हद से भी ज़्यादा तुम किसी से प्यार नहीं करना हद से भी ज़्यादा तुम किसी से प्यार नहीं करना कोई तो वफ़ा करे कोई तो जफ़ा करे किसको है पता यहाँ कौन क्या ख़ता करे ऐसा ना हो इश्क़ में कोई दिल को तोड़ दे बीच राह में सनम तेरा साथ छोड़ दे इज़हार नहीं करना इन्तज़ार नहीं करना हद से भी ज़्यादा तुम किसी से प्यार नहीं करना हद से भी ज़्यादा तुम किसी से प्यार नहीं करना ऐतबार नहीं करना इन्तज़ार नहीं करना हद से भी ज़्यादा तुम किसी से प्यार नहीं करना हद से भी ज़्यादा तुम किसी से प्यार नहीं करना

  • 20

Últimas atividades

Tradução porSwarup Banik

Um lugar, para criadores de música.

Saiba mais