LetraDhoop Mein Nikla Na Karo Roop…

Bappi Lahiri

Última atualização em: 15 de Dezembro de 2017
Esta letra aguarda revisão
Se você encontrou erros, por favor nos ajude corrigindo-os.
#together against coronavirus

धूप में निकला न करो रूप की रानी गोरा रंग काला ना पड़ जाए धूप में निकला न करो रूप की रानी

गोरा रंग काला ना पड़ जाए मस्त मस्त आँखों से छलकाओ न मदिरा मधुशाला में ताला न पड़ जाए धूप में निकला न करो रूप की रानी गोरा रंग काला ना पड़ जाए तुम जो थक गई हो तो बाँहों में उठा लें तुम जो थक गई हो तो बाँहों में उठा लें हुक़्म दो हमें तो अभी पालकी ला दें पंथ है पथरीला पैदल न चलो तुम पंथ है पथरीला पैदल न चलो तुम कहीं पाँव में छाला न पड़ जाए धूप में निकला न करो रूप की रानी गोरा रंग काला ना पड़ जाए धूप हो या छाँव सजन मैं तो आऊँगी धूप हो या छाँव सजन मैं तो आऊँगी तुमसे मिलने आग पे भी चल के आऊँगी एक पल भी तन्हा तुम्हें छोड़ूँ तो कैसे एक पल भी तन्हा तुम्हें छोड़ूँ तो कैसे किसी सौतन से पाला न पड़ जाए धूप में निकला न करो रूप की रानी गोरा रंग काला ना पड़ जाए मस्त मस्त आँखों से छलकाओ न मदिरा मधुशाला में ताला न पड़ जाए

  • 0

Atividades mais recentes

Sincronizada porHAX4 - BD

Musixmatch para Spotify e
Apple Music agora está disponível para
seu computador

Baixe agora