LetraKabhi Kabhie

Amitabh Bachchan

Última atualização em: 22 de Julho de 2017
Esta letra aguarda revisão
NAMAN KUMAR sugeriu alterações para esta letra.
#together against coronavirus

कभी कभी मेरे दिल में ख़याल आता है के जैसे तुझ को बनाया गया है मेरे लिए तू अब से पहले सितारों में बस रही थी कही तुझे जमीं पे बुलाया गया है मेरे लिए कभी कभी मेरे दिल में ख़याल आता है के ये बदन ये निगाहें, मेरी अमानत हैं ये गेसुओं की घनी छाँव हैं मेरी खातिर ये होंठ और ये बाहें मेरी अमानत हैं कभी कभी मेरे दिल में ख़याल आता है के जैसे बजती हैं शहनाईयां सी राहों में सुहाग रात है घूंघट उठा रहा हूँ मैं सीमट रही है, तू शरमा के अपनी बाहों में कभी कभी मेरे दिल में ख़याल आता है के जैसे तू मुझे चाहेगी उम्रभर यूही उठेगी मेरी तरफ प्यार की नजर यूं ही मैं जानता हूँ के तू गैर है मगर यूं ही

  • 0

Atividades mais recentes

Sincronizada porSujit Raj
Traduzido porAkash Stha

Musixmatch para Spotify e
Apple Music agora está disponível para
seu computador

Baixe agora