LyricsKuch Tum Socho

Sonu Nigam

Last update on: July 2, 2019

कुछ तुम सोचो, कुछ हम सोचें फिर खुशी का मौसम आए

कुछ तुम सोचो कुछ हम सोचें फिर खुशी का मौसम आए तन्हा-तन्हा कौन जिया है रह के तन्हा दिल घबराए आ जाओ मिलके रिश्ता ये जोड़ें शर्तें बदल दे, रस्मो को तोड़े इस से पहले के ये दुनिया हमे आज़माए हो कुछ तुम सोचो कुछ हम सोचें फिर खुशी का मौसम आए आई हैं खुशियों का पेगाम लेके बहारें ये पल है अपना, इस पल में आओ तक़दीर अपनी संवारे आई हैं खुशियों का पेगाम लेके बहारें ये पल है अपना, इस पल में आओ तक़दीर अपनी संवारे खाली-खाली इस जीवन में प्यार भर ले हम तुम दोनो दीवाने जो करते अक्सर वोही करले हम तुम दोनो इन फासलों को आओ मिटा दे इक दूसरे में खुद को छुप दे इस से पहले के ये दुनिया हमे आज़माए हो कुछ तुम सोचो कुछ हम सोचे फिर खुशी का मौसम आए दुनिया की रस्मो को चाहत में शामिल ना करना मंज़िल हम अपनी पाके रहेंगे हा तुम किसी से ना डरना दुनिया की रस्मो को चाहत में शामिल ना करना मंज़िल हम अपनी पाके रहेंगे हा तुम किसी से ना डरना पागल रस्मे पागल दुनिया और थोड़े हम तुम पागल किस्मत में हो ना जाने क्या सोचते हैं बस ये हर पल अरमान हैं जिसका सपना वो बुनले तुम हुमको चुन लो हम तुमको चुनले इस से पहले के ये दुनिया हमे आज़माए हो कुछ तुम सोचो कुछ हम सोचे फिर खुशी का मौसम आए तन्हा-तन्हा कौन जिया हैं रहके तन्हा दिल घबराए आ जाओ मिलके रिश्ता ये जोड़े शर्तें बदल दे रस्मो को तोड़े इस से पहले के ये दुनिया हमे आज़माए

  • 29

Last activities

Synced byMeghna
Translated byDeepesh Bhati

Musixmatch for Spotify and
iTunes is now available for
your computer

Download now