LyricsKandhon Se Milte Hain Kandhe

Shankar

Last update on: August 13, 2019

कन्धों से मिलते हैं कंधे कदमों से कदम मिलते हैं हम चलते हैं जब ऐसे तोह दिल दुश्मन के हिलते हैं

कन्धों से मिलते हैं कंधे कदमों से कदम मिलते हैं हम चलते हैं जब ऐसे तोह दिल दुश्मन के हिलते हैं अब तोह हमें आगे बढ़ते है रेहना अब तोह हमें साथी है बस इतना ही कहना अब तोह हमें आगे बढ़ते हैं रहना अब तोह हमें साथी है बस इतना ही कहना अब जो भी हो शोला बनके पत्थर है पिघलाना अब जो भी हो बादल बनके परबत पर है छाना कन्धों से मिलते हैं कंधे कदमों से कदम मिलते हैं हम चलते हैं जब ऐसे तोह दिल दुश्मन के हिलते हैं कन्धों से मिलते हैं कंधे कदमों से कदम मिलते हैं हम चलते हैं जब ऐसे तोह दिल दुश्मन के हिलते हैं निकले हैं मैदान में हम जान हथेली पर ले कर अब देखो दम लेंगे हम जाके अपनी मंज़िल पर खतरों से हस्के खेलना इतनी तोह हम में हिम्मत है मोड़े कलाई मौत की इतनी तोह हम में ताक़त है हम सरहदों के वास्ते लोहे की एक दीवार है हम दुश्मनों के वास्ते होशियार है तैयार है अब जो भी हो शोला बनके पत्थर है पिघलाना अब जो भी हो बादल बनके परबत पर है छाना कन्धों से मिलते हैं कंधे कदमों से कदम मिलते हैं हम चलते हैं जब ऐसे तोह दिल दुश्मन के हिलते हैं जोश दिल में जगाते चलो जीत के गीत गाते चलो जोश दिल में जगाते चलो जीत के गीत गाते चलो जीत की जो तस्वीर बनाने हम निकले हैं अपनी लाहू से हम को उस में रंग भरना है साथी मैंने अपने दिल में अब ये ठान लिया है या तोह अब करना है या तोह अब मरना है चाहें अंगारें बरसे के बिजली गिरे तू अकेला नहीं होगा यारा मेरे कोई मुश्किल हो या हो कोई मोर्चा साथ हर मोड़ पर होंगे साथी तेरे अब जो भी हो शोला बनके पत्थर है पिघलाना अब जो भी हो बादल बनके परबत पर है छाना कन्धों से मिलते हैं कंधे कदमों से कदम मिलते हैं हम चलते हैं जब ऐसे तोह दिल दुश्मन के हिलते हैं इक चेहरा अक्सर मुझे याद आता है इस दिल को चुपके चुपके वो तड़पाता है जब घरसे कोई भी खत आया है कागज़ को मैंने भीगा भीगा पाया है हो, पलकों पे यादों के कुछ दीप जैसे जलते हैं कुछ सपने ऐसे हैं जो साथ साथ चलते हैं कोई सपना न टूटे कोई वादा न टूटे तुम चाहो जिससे दिल से वो तुमसे ना रूठे अब जो भी हो शोला बनके पत्थर है पिघलाना अब जो भी हो बादल बनके पर्बत पर है छाना कन्धों से मिलते हैं कंधे कदमों से कदम मिलते हैं हम चलते हैं जब ऐसे तोह दिल दुश्मन के हिलते हैं चलता है जो ये कारवाँ गुंजी सी है ये वादियां है ये ज़मीन (गुंजी गुंजी) ये आसमान (गूंजा गूंजा) है ये हवा (गुंजी गुंजी) है ये समां (गूंजा गूंजा) हर रस्ते ने हर वादी ने हर पर्बत ने सदा दी हम जीतेंगे हम जीतेंगे हम जीतेंगे हर बाज़ी कन्धों से मिलते हैं कंधे कदमों से कदम मिलते हैं हम चलते हैं जब ऐसे तोह दिल दुश्मन के हिलते हैं कन्धों से मिलते हैं कंधे कदमों से कदम मिलते हैं हम चलते हैं जब ऐसे तोह दिल दुश्मन के हिलते हैं कन्धों से मिलते हैं कंधे कदमों से कदम मिलते हैं हम चलते हैं जब ऐसे तोह दिल दुश्मन के हिलते हैं कन्धों से मिलते हैं कंधे कदमों से कदम मिलते हैं हम चलते हैं जब ऐसे तोह दिल दुश्मन के हिलते हैं

  • 101

Last activities

Synced byLucas Ferrari
Translated byAyush Ashish Saxena

Musixmatch for Spotify and
iTunes is now available for
your computer

Download now