LyricsJannat Ka Majra

Rahat Fateh Ali Khan

Tarik Khan submitted the lyrics for this song. Are the lyrics correct?

इस्म जिसका मोहम्मद है सल्लेअला > 2 वो पयम्बर मदिने में मौजूद है >1 सीरते मुस्तफा आपको चाहिए >2 वो तो कुरआँ के सीने में मौजूद है। >1 इस्म जिसका मोहम्मद है सल्लेअला > 2 वो पयम्बर मदिने में मौजूद है >1 क्या फजीलत बयाँ हो नबी आपकी >2 ऐसी खुशबु मोहम्मद को रब से मिली >1 इससे पहले नहीं थी ज़मी पे कभी >2 जो नबी के पसीने में मौजूद है।>1 इस्म जिसका मोहम्मद है सल्लेअला > 2 वो पयम्बर मदिने में मौजूद है >1 आप समझे नहीं आप मानेगे क्या >2 हां फजीलत मोहम्मद की जानेंगे क्या >1 जो समझना है कुरआँ से पूछो जरा >2 जो है हादी मदीने में मौजूद है >1 इस्म जिसका मोहम्मद है सल्लेअला > 2 वो पयम्बर मदिने में मौजूद है >1 नुरे अउव्वल बना कर खोदा ने कहा >2 कितना प्यारा है महबूब नूरी मेरा >1 सबसे बेहतर लकब तो है महबूब का >2 हर सिफत इस नगीने में मौजूद है। >1 इस्म जिसका मोहम्मद है सल्लेअला > 2 वो पयम्बर मदिने में मौजूद है >1 तुम न समझें अली की फजीलत हैं क्या हैं ज़माने में कोई अली दुसरा उसको खौफे जहन्नम से क्या वास्ता या अली जिसके सिने में मौजूद हैं इस्म जिसका मोहम्मद है सल्लेअला > 2 वो पयम्बर मदिने में मौजूद है > 1 जिसके सदके में आलम सजाया गया > 2 अर्शे आजम पे जिसको बुलाया गया > 1 जिसको मेहमाँ फलक पे बनाया गया > 2 नुरे अप्भी मदिने मे मौजूद है। > 1 इस्म जिसका मोहम्मद है सल्लेअला > 2 वो पयम्बर मदिने में मौजूद है > 1 महफिले नूर को भी सजाया करो >2 हां मोहम्मद को दिल से पुकारा करो >1 पंजतन का भी सदका लुटाया करो >2 जो है मर्कज मदीने में मौजूद है >1 इस्म जिसका मोहम्मद है सल्लेअला > 2 वो पयम्बर मदिने में मौजूद है > 1 मुतमई दी हमेशा हमारा रहा >2 ये तो दश्ते नबी से तो हमको मिला >1 क्या मिटाएगा कोई कलामे खोदा > 2 ये तो मोमिन के सीने में मौजूद हैं। >1 इस्म जिसका मोहम्मद है सल्लेअला > 2 वो पयम्बर मदिने में मौजूद है >1 क्या बया कोई शायर करेगा भाला वो हबीबे ख़ुदा वो रसूले ख़ुदा खुश है जिन ओ बसार और मलायक सभी सारे एक आस्ताने मैं मौजूद हैं इस्म जिसका मोहम्मद है सल्लेअला > 2 वो पयम्बर मदिने में मौजूद है >1 बंनकर रहमत जो आलम पे छाये नबी आज ही उनकी दुनिया मैं आमद हुई इस खुशी मैं बापा जश्ने ईदे नबी हर बासर इस तराने मैं मौजूद है इस्म जिसका मोहम्मद है सल्लेअला > 2 वो पयम्बर मदिने में मौजूद है > 1 जामे कौसर भी जन्नत वहीं पाओगे >2 दिल में हुब्बे साहाबा लिए जाओगे >1 जो तमन्ना है दिल में वहीं पाओगे >2 सब इन्हीं की के सफीने में मौजूद है >1 इस्म जिसका मोहम्मद है सल्लेअला > 2 वो पयम्बर मदिने में मौजूद है > 1 दिल में शादाब मेरे है इश्के नबी ये तमन्ना है गुजरे यूहीं जीन्दगी यूँही गुजरे खुदाया मेरी जीन्दगी मेरा आंका तो दिल के खजीने में है। इस्म जिसका मोहम्मद है सल्लेअला > 2 वो पयम्बर मदिने में मौजूद है > 1

Powered by AI Curated by people

Start your discovery