LyricsJaane Kahan Gaye Woh Din

Mukesh

Last update on: June 27, 2018
These lyrics are waiting for review
If you found mistakes, please help us by correcting them.

जाने कहाँ ... गए वो दिन, कहते थे तेरी राह में नज़रों को हम बिछाएंगे

जाने कहाँ ... गए वो दिन, कहते थे तेरी राह में नज़रों को हम बिछाएंगे चाहे कहीं भी तुम रहो, चाहेंगे तुमको उम्र भर तुमको ना भूल पाएंगे मेरे कदम जहां पड़े, सजदे किये थे यार ने मेरे कदम जहां पड़े, सजदे किये थे यार ने मुझको रुला रुला दिया जाती हुई बहार ने जाने कहाँ ... गए वो दिन, कहते थे तेरी राह में नज़रों को हम बिछाएंगे चाहे कहीं भी तुम रहो, चाहेंगे तुमको उम्र भर तुमको ना भूल पाएंगे अपनी नज़र में आज कल, दिन भी अन्धेरी रात है अपनी नज़र में आज कल, दिन भी अन्धेरी रात है साया ही अपने साथ था, साया ही अपने साथ है जाने कहाँ ... गए वो दिन, कहते थे तेरी राह में नज़रों को हम बिछाएंगे चाहे कहीं भी तुम रहो, चाहेंगे तुमको उम्र भर तुमको ना भूल पाएंगे

  • 35

Last activities

Synced byHarish Sharma
Translated byAshish Patil

Musixmatch for Spotify and
Apple Music is now available for
your computer

Download now