LyricsKaun Hoon Main

Atif Aslam, Sachin Gupta

  • Written by:
Last update on: July 25, 2021
1 Translation available1 Translation available

अनजानी सी ख़ाहिश है अनजाना है अफ़साना ना मेरी कोई मंज़िल है

ना कोई है ठिकाना ओ, अनजानी सी ख़ाहिश है अनजाना है अफ़साना ना मेरी कोई मंज़िल है ना कोई है ठिकाना कौन हूँ मैं? किस की मुझे तलाश? कौन हूँ मैं? किस की मुझे तलाश? इन सूनी-सूनी तनहा राहों पर (Who am I?) (Who, who am I?) बहके-बहके से पलछिन हैं होश में भी मदहोशी है मुझको सुनाई देती है ये कैसी ख़ामोशी है? (Who, who am I?) बहके-बहके से पलछिन हैं होश में भी मदहोशी है मुझको सुनाई देती है ये कैसी ख़ामोशी है? कौन हूँ मैं? किस की मुझे तलाश? कौन हूँ मैं? किस की मुझे तलाश? इन सूनी-सूनी तनहा राहों पर कोई भी तो जाने ना आलम मेरी तनहाई का पीछा करता रहता हूँ मैं तो अपनी परछाई का कोई भी तो जाने ना आलम मेरी तनहाई का पीछा करता रहता हूँ मैं तो अपनी परछाई का कौन हूँ मैं? किस की मुझे तलाश? कौन हूँ मैं? किस की मुझे तलाश? इन सूनी-सूनी तनहा राहों पर

1 Translation available1 Translation available
  • 0

Last activities

Translated byMd Babu

Powered by AI Curated by people

Start your discovery