भकत बड़े बलवान तुम्ही हो, सालासर हनुमान तुम्ही हो ।

आया हूँ मैं दर पे, तुझको आज पुकारा ।

पावो में घुंघरू बाँध के नाचे, मेरा बजरंग प्यारा ॥

छम छम नाचे देखो वीर हनुमना ।

कहेते है लोग इसे राम का दीवाना ॥

पाँवो मे घुंगूरू बाँध के नाचे,

रामजी का नाम इन्हे बड़ा प्यारा लागे ।

राम ने भी देखो इसे खूब पहचाना,

छम छम नाचे देखो वीर हनुमना ॥

जहाँ जहाँ कीर्तन होता श्री राम का,

लगता है पहेरा वहाँ वीर हनुमान का ।

राम के चरण मे है इनका टिकना,

छम छम नाचे देखो वीर हनुमना ॥

नाच नाच प्रभु श्री राम को रिझवे,

'बनवारी' रात दिन नाचता ही जाए ।

भक्तो मे भक्त बड़ा, दुनिया ने माना,

छम छम नाचे देखो वीर हनुमना ॥