LyricsHamari Adhuri Kahani

Arijit Singh

Last update on: April 16, 2019

पास आए दूरियाँ फिर भी कम न हुई एक अधूरी सी हमारी कहानी रही आसमान को ज़मीन, ये ज़रूरी नहीं

जा मिले, जा मिले इश्क़ सच्चा वहीं जिसको मिलती नहीं मंज़िलें, मंज़िलें रंग थे नूर था, जब करीब तू था एक ज़न्नत सा था ये जहां वक़्त की रेत पे कुछ मेरे नाम सा लिख के छोड़ गया तू कहाँ हमारी अधूरी कहानी हमारी अधूरी कहानी हमारी अधूरी कहानी हमारी अधूरी कहानी खुशबुओं से तेरी यूँही टकरा गए चलते चलते देखो न हम कहाँ आ गए जन्नतें अगर यहीं तू दिखे क्यों नहीं चाँद सूरज सभी है यहाँ इंतज़ार तेरा सदियों से कर रहा प्यासी बैठी है कब से यहाँ हमारी अधूरी कहानी हमारी अधूरी कहानी हमारी अधूरी कहानी हमारी अधूरी कहानी प्यास का ये सफ़र ख़त्म हो जायेगा कुछ अधूरा सा जो था, पूरा हो जायेगा झुक गया आसमां मिल गए दो जहाँ हर तरफ है मिलन का समां डोलियाँ है सजी, खुशबुएँ हर कहीं पढ़ने आया खुदा खुद यहाँ हमारी अधूरी कहानी हमारी अधूरी कहानी हमारी अधूरी कहानी हमारी अधूरी कहानी

  • 12k

Last activities

Synced byShapit 420
Translated byHasna Smile

Musixmatch for Spotify and
iTunes is now available for
your computer

Download now