歌詞Koi Jab Tumhara Hriday Tod de

Mukesh

最終更新日:: 2019年3月9日

कोई जब तुम्हारा हृदय तोड़ दे तड़पता हुआ जब कोई छोड़ दे

तब तुम मेरे पास आना प्रिय मेरा दर खुला है खुला ही रहेगा, तुम्हारे लिए कोई जब तुम्हारा हृदय तोड़ दे अभी तुम को मेरी ज़रूरत नही बहोत चाहनेवाले मिल जाएँगे अभी रूप का एक सागर हो तुम कंवल जीतने चाहोगी खिल जाएँगे दरपन तुम्हे जब डराने लगे जवानी भी दामन छुड़ाने लगे तब तुम मेरे पास आना प्रिय मेरा सर ज़ुका है ज़ुका ही रहेगा, तुम्हारे लिए कोई जब तुम्हारा हृदय तोड़ दे तड़पता हुआ जब कोई छोड़ दे कोई शर्त होती नहीं प्यार में मगर प्यार शर्तों पे तुम ने किया नज़र में सितारे जो चमके ज़रा भुझाने लगी आरती का दिया जब अपनी नज़र में ही गिरने लगो अंधेरो में अपने ही घिरने लगो तब तुम मेरे पास आना प्रिय ये दीपक जला है जला ही रहेगा तुम्हारे लिए कोई जब तुम्हारा हृदय तोड़ दे तड़पता हुआ जब कोई छोड़ दे

  • 55

最新の活動

同期者:Meghna
翻訳者:Abhishek Pandey

あなたのコンピューターのSpotifyと
iTunesでMusixmatchが現在利用可能になりました。

今すぐダウンロード