TestoZindagi Yun Bhi Basar Tanha

Jagjit Singh, Gulzar

Ultima modifica il: 26 febbraio 2019

ज़िंदगी यूँ हुई बसर तन्हा ज़िंदगी यूँ हुई बसर तन्हा क़ाफिला साथ और सफर तन्हा

ज़िंदगी यूँ हुई बसर तन्हा अपने साये से चौंक जाते हैं अपने साये से चौंक जाते हैं उम्र गुज़री है इस कदर तन्हा उम्र गुज़री है इस कदर तन्हा रात भर बोलते हैं सन्नाटे रात भर बोलते हैं सन्नाटे रात काटे कोई किधर तन्हा रात काटे कोई किधर तन्हा दिन गुज़रता नहीं है लोगों में दिन गुज़रता नहीं है लोगों में रात होती नहीं बसर तन्हा रात होती नहीं बसर तन्हा हमने दरवाज़े तक तो देखा था हमने दरवाज़े तक तो देखा था फिर न जाने गए किधर तन्हा फिर न जाने गए किधर तन्हा क़ाफिला साथ और सफर तन्हा ज़िंदगी यूँ हुई बसर तन्हा

  • 0

Ultime attività della community

Sincronizzato daPulkit Chanana

Musixmatch per Spotify e
Apple Music è disponibile ora
per il tuo computer

Scarica adesso